dipp
Skip Navigation Links
होम
हमारे बारे में
नीतियां और योजनाएं
अधिनियम और नियम
अंतर्राष्ट्रीय सहयोग
निवेशकों के लिए
प्रकाशन
सूचना का अधिकार
प्रत्यक्ष विदेशी निवेश नीति
फेमा
प्रत्यक्ष विदेशी निवेश मैनुअल
निवेशकों के दिशा निर्देशों
फार्म
अनुप्रयोग स्तर
एफआईपीबी
जापान प्रकोष्ठ
कोरिया प्रकोष्ठ
भारत में उच्च १० निवेशक
Skip Navigation Links>होम>निवेशक>फेमा
  विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम  
 
 

विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (१९९९) अथवा संक्षेप में फेमा पूर्व में विदेशी मुद्रा विनियमन अधिनियम (फेरा) के प्रतिस्थापन के रूप में शुरू किया गया है । फेमा ०१ जून, २००० को अस्तित्व में आया ।

विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (१९९९) का मुख्य उद्देश्य बाहरी व्यापार तथा भुगतान को सरल बनाने के उद्देश्य तथा भारत में विदेशी मुद्रा बाजार के क्रमिक विकास तथा रखरखाव के संवर्धन के लिए विदेशी मुद्रा से संबंधित कानून को समेकित तथा संशोधन करना है ।

फेमा भारत के सभी भागों के लिए लागू है । यह अधिनियम भारत के बाहर की स्वामित्व वाली अथवा भारत के निवासी व्यक्ति के नियंत्रण वाली सभी शाखाओं, कार्यालयों तथा एजेन्सियों के लिए लागू है ।

 
  ...और अधिक  
कॉपीराइट 2008 डीआईपीपी वेबसाइट नीतियां | अस्वीकरण |
इस वेबसाइट की सामग्री प्रकाशित है और औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग द्वारा प्रबंधित. कोई भी इस वेबसाइट के बारे में प्रश्न के लिए, कृपया संपर्क करें "वेब सूचना प्रबंधक: "

                                                                                      Best viewed Resolution 1024x768 using IE 6.0 or Mozilla2.0